प्रयागराज में गरजे योगी आदित्यनाथ बोले- यह प्रयागराज की धरती है यह अत्याचार बर्दाश्त नहीं करती

  1. Home
  2. उत्तर प्रदेश
  3. प्रयागराज

प्रयागराज में गरजे योगी आदित्यनाथ बोले- यह प्रयागराज की धरती है यह अत्याचार बर्दाश्त नहीं करती

प्रयागराज में गरजे योगी आदित्यनाथ बोले- यह प्रयागराज की धरती है यह अत्याचार बर्दाश्त नहीं करती

 प्रयागराज में सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि यह प्रयागराज की धरती है


पब्लिक न्यूज़ डेस्क।  प्रयागराज में सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि यह प्रयागराज की धरती है यह अत्याचार बर्दाश्त नहीं करती है। प्रकृति न्याय जरूर करती है। अतीक और अशरफ का नाम लिए बगैर कहा कि कहा कि जो जैसा करेगा उसको वैसा ही फल मिलेगी। जिन लोगों ने अन्याय किया था प्रकृति ने न्याय कर दिया। उन्होंने कहा कि प्रयागराज में भाजपा ने सामान्य कार्यकर्ता को महापौर का प्रत्याशी बनाया है। भाजपा नए कार्यकर्ताओं को जोड़ने की पार्टी है। प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में विश्व में भारत की प्रतिष्ठा बढ़ी है। कहा कि उत्तर प्रदेश कि पहचान कट्टे से नहीं आईटी स्किल के रूप में जानी जाएगी। 2025 का कुंभ ऐतिहासिक होगा। स्वच्छ सुंदरता सुरक्षित होगा। इसके लिए अभी से लगना होगा।

योगी ने कहा कि चार करोड़ लोगों को आवास, आठ करोड़ लोगों को उज्ज्वला योजना का लाभ मिलता है। 220 करोड़ लोगों को कोरोना का टीका मुफ्त में लगाया गया है। उन्होंने कहा कि भाजपा कार्यकर्ताओं की पार्टी है। भाजपा का मतलब सबका साथ और सबका विकास। भाजपा सरकार में बिना भेदभाव के सबका विकास किया जा रहा है। उन्होंने जनधन योजना, स्वरोजगार, कौशल विकास योजना, मुफ्त अनाज और किसान सम्मान निधि आदि योजनाओं को गिनाया। साथ ही भाजपा के प्रत्याशी गणेश केसरवानी की मंच से तारफी की। कहा कि गणेश एक सामान्य कार्यकर्ता है। पार्टी ने जमीनी कार्यकर्ता को चुनाव में उम्मीदवार बनाया है। 

प्रदेश के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य, जलशक्ति मंत्री स्वतंत्र देव सिंह, सांसद रीता बहुगुणा जोशी, सांसद केशरी देवी पटेल और सांसद विनोद सोनकर मंच पर पहुंच गए हैं। मंच पर पूर्व मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह, पूर्व महापौर अभिलाषा गुप्ता नंदी शहर उत्तरी विधायक हर्षवर्धन समेत प्रयागराज के सभी विधायक मौजूद हैं। 

निकाय चुनाव प्रचार के आखिरी दिन मंगलवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ माफिया के गढ़ में गर्जना करेंगे। गुंडा-माफिया का मनोबल तोड़ने के लिए जिस धरती से बाबा के बुलडोजर की धमक देश भर में कानून-व्यवस्था को लेकर सुर्खियों में छाई रही है, वहां अतीक के घर और दफ्तर के नजदीक सीएम योगी की सभा के मायने निकाले जा रहे हैं। यहां यह उल्लेख जरूरी है कि सनसनीखेज अतीक-अशरफ की हत्याकांड के बाद संगमनगरी में सीएम का यह पहला दौरा हैै, जिसे लेकर अभेद्य सुरक्षा बंदोबस्त किए गए हैं।

योगी की सभा जहां होगी,वहां से अतीत का पन्ना बन चुके माफिया अतीक अहमद के दफ्तर और घर की दूरी महज डेढ़ से तीन किमी तक ही है। इतना ही नहीं लूकरगंज में माफिया से मुक्त कराई गई भूमि पर जहां गरीबों के लिए आवास योजना बसाने का काम अंतिम दौर में है, वहां से सीएम का सभास्थल सिर्फ डेढ़ सौ मीटर की दूरी पर स्थित है।

माफिया-अपराधी बनाम विकास के मुद्दे पर निकाय चुनाव में डंका बजाने का एलान करने वाली भाजपा में असंतुष्टों की तादाद बढ़ने से लड़ाई कांटे की हो गई है। नंदी की नाराजगी के अलावा भितरघात के खतरे को लेकर पार्टी नेता यहां कैंप कर रहे हैं।