अक्टूबर में GST संग्रह बढ़कर 1.30 लाख करोड़ रुपये हुआ, 1 जुलाई 2017 के बाद दूसरा सबसे बड़ा कलेक्शन

अक्टूबर में GST संग्रह बढ़कर 1.30 लाख करोड़ रुपये हुआ, 1 जुलाई 2017 के बाद दूसरा सबसे बड़ा कलेक्शन

पब्लिक न्यूज डेस्क। वस्तु और सेवा कर (GST) संग्रह अक्टूबर में बढ़कर 1.30 लाख करोड़ रुपये हो गया। जीएसटी के एक जुलाई 2017 को लागू होने के बाद, यह दूसरा सबसे बड़ा संग्रह है। यह लगातार चौथे महीने एक लाख करोड़ रुपये से ऊपर है और त्योहारी सत्र की तेजी को दर्शाता है। पिछले महीने जीएसटी संग्रह अक्टूबर 2020 की तुलना में 24 फीसद अधिक था। वित्त मंत्रालय के बयान के अनुसार, अक्टूबर 2021 में सकल जीएसटी राजस्व 1,30,127 करोड़ रुपये रहा, जिसमें CGST 23,861 करोड़ रुपये, SGST 30,421 करोड़ रुपये, IGST 67,361 करोड़ रुपये (माल के आयात पर जमा 32,998 करोड़ रुपये सहित) और उपकर 8,484 करोड़ रुपये (माल के आयात पर एकत्रित 699 करोड़ रुपये सहित) है।

CGST का मतलब केंद्रीय वस्तु और सेवा कर, SGST (राज्य वस्तु और सेवा कर) और IGST (एकीकृत वस्तु और सेवा कर) है। बयान के मुताबिक, जीएसटी संग्रह के आंकड़े आर्थिक सुधार के रुझानों से मेल खाते हैं और यह दूसरी लहर के बाद से हर महीने जनरेट होने वाले ई-वे बिलों के रुझानों से भी स्पष्ट है। मंत्रालय ने कहा कि यदि अर्धचालकों की आपूर्ति में बाधा से ऑटो तथा अन्य उत्पादों की बिक्री प्रभावित नहीं होती, तो राजस्व संग्रह और भी अधिक होता।

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें पब्लिक न्यूज़ टी वी के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @PublicNewsTV और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @PublicNewsTV पर क्लिक करें।