आत्मनिर्भर भारत की 'मजबूत बानगी है 'ये महिला', अब तक डेढ़ हजार महिलाओं को किया 'आत्मनिर्भर'

आत्मनिर्भर भारत की 'मजबूत बानगी है 'ये महिला', अब तक डेढ़ हजार महिलाओं को किया 'आत्मनिर्भर'

हल्द्वानी। अगले माह यानी फरवरी में बसंत का दौर शुरू हो जाएगा। लेकिन हल्द्वानी के पनियाली गांव की बसंती राणा पिछले चार साल से महिलाओं के जीवन में रोजगार का सदा बहार बसंत ला रही हैं। जिससे गांव की एक सामान्य सी महिला को आत्मनिर्भर और स्वाभिमानी बनने का अवसर मिला। हल्द्वानी ब्लाक की करीब डेढ़ हजार महिलाएं अलग-अलग समूहों के माध्यम से एक-दूसरे से जुड़ी हैं। बसंती राणा का काम इन्हें स्वरोजगार के लिए प्रेरित करने के बाद उत्पाद की ब्रांडिंग व बाजार उपलब्ध कराने में मदद करना है।

पनियाली निवासी बसंती राणा के मुताबिक साल 2016 में वह हल्द्वानी विकासखंड की एक खुली बैठक में पहुंची तो वहां स्वरोजगार को लेकर चर्चा हो रही थी। यानी कैसे स्वरोजगार के जरिये महिलाएं आत्मनिर्भर बन सकती हैं। मन में कुछ करने की ठान बसंती ने कुछ महिलाओं को जोड़ वैष्णवी स्वयं सहायता समूह का गठन किया। वर्तमान में सरस मार्केट में हिलांस मार्ट के नाम से वह एक आउटलेट का संचालन भी करती है। इस आउटलेट में महिलाओं द्वारा तैयार उत्पादों के साथ-साथ गहत, भट्ट, मोठ, पहाड़ी राजमा, मडुवा, बाजरा, जंबू, आंवला समेत कई तरह के पर्वतीय उत्पादों को जगह दी गई है। इसके अलावा हल्द्वानी के जिन 15 ग्राम संगठनों से डेढ़ हजार महिलाएं जुड़ी हुई हैं।

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें पब्लिक न्यूज़ टी वी के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @PublicNewsTV और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @PublicNewsTV पर क्लिक करें।