बलरामपुर में शुरू हुआ 15 प्लस बच्चों का टीकाकरण, लगवाया पहला टीका

बलरामपुर में शुरू हुआ 15 प्लस बच्चों का टीकाकरण, लगवाया पहला टीका

संवाददाता के बी गुप्ता 

बलरामपुर।  बलरामपुर 03 जनवरी। जिले में 15 वर्ष से अधिक उम्र के बच्चों को कोवैक्सीन का टीका लगना शुरू हो गया है। इसके लिए रजिस्ट्रेशन करवाना जरूरी है। बच्चों के वैक्सीनेशन के लिए को-विन एप पर रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं। जिस बच्चे का जन्म 2007 या उससे पहले हुआ है उन्हें ही वैक्सीन दी जाएगी। इस टीकाकरण में किशोरों को सिर्फ कोवैक्सीन का ही टीका लगाया जाएगा।

सोमवार को जिला मेमोरियल चिकित्सालय से जिले में 15 वर्ष से अधिक उम्र के बच्चों को कोवैक्सीन का टीका लगना शुरू हो गया। बलरामपुर चीनी मिल कालोनी की रहने वाली 16 वर्षीय दिव्यांशी पाण्डेय ने फीता काटकर टीकाकरण का शुभारंभ किया। इसके बाद दिव्यांशी और उसके 17 वर्षीय भाई गौरव पाण्डेय को कोवैक्सीन का टीका लगा। सीएमएस डा. अरूण श्रीवास्तव ने टीका लगने के बाद बच्चों के प्रोत्साहन के लिए उन्हे चाॅकलेट भी दिया। दिव्यांशी और गौरव को अस्पताल में आधे घंटे तक निगरानी में रखा गया जिसके बाद उन्हे छुट्टी दे दी गई। दिव्यांशी ने बताया कि टीका लगने के बाद उन्हे किसी भी तरह की परेशानी महसूस नहीं हुई बल्कि वे अपने आप को और पहले से बेहतर महसूस कर रहीं हैं। अस्पताल में टीकाकरण के शुभारम्भ के दौरान डा. रमेश पाण्डेय, डा. ऋषि, पिरामल स्वास्थ्य से राकेश शुक्ला, जिला कोल्ड चेन मैनेजर श्याम श्रीवास्तव सहित तमाम लोग मौजूद रहे।

जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डा. अरूण कुमार ने बताया कि जिले में 15 से 18 वर्ष के 01 लाख 50 हजार 698 लक्ष्य निर्धारित किया गया है। जिसके लिए जिला मेमोरियल चिकित्सालय, अर्बन पीएचसी खलवा, पीपीसी उतरौला, 09 सामुदायिक स्वास्थ केन्द व 12 प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र सहित कुल 25 टीकाकरण केन्द्र बनाये गये हैं। टीकाकरण के पहले दिन करीब 300 बच्चों ने टीकाकरण के लिए रजिस्ट्रेशन करवाया था जिसमें शाम साढे चार बजे तक 240 बच्चों को टीका लग चुका है।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा0 सुशील कुमार ने बताया कि जिले में बढ़े कोरोना के मामलों ने लोगों की चिंता बढ़ा दी है। ऐसे में खतरे को टालने के लिए, कोरोना वायरस के नए वैरिएंट ओमीक्रोन के खतरे को देखते हुए सरकार की तरफ से तीन जनवरी से 15-18 साल के बच्चों के लिए टीकाकरण अभियान की शुरुआत करना एक महत्वपूर्ण कदम माना जा रहा है। इस बीच बच्चों को वैक्सीन लगाने के लिए शनिवार से ही कोविन पोर्टल पर पंजीकरण की प्रक्रिया शुरू हो गई है। सीएमओ ने लोगों से अपील है कि वे अधिक से अधिक संख्या में अपने बच्चों का टीकाकरण करवाकर उन्हे ओमीक्रोन के खतरे से सुरक्षित कर लें। उन्होने कहाकि जल्द ही जिला विद्यालय निरीक्षक से मिली सूची के अनुसार स्कूलों में बच्चों का टीकाकरण भी शुरू किया जाएगा।

सीधे वैक्सीनेशन सेंटर पर जाकर भी करा सकते हैं पंजीकरण

सभी टीकाकरण योग्य बच्चों को को-विन पोर्टल पर अपना पंजीकरण करना होगा। इसके अलावा 3 जनवरी 2022 से सीधे वैक्सीनेशन सेंटर पर जाकर भी पंजीकरण (रजिस्ट्रेशन) करा सकते हैं। 
-साल 2007 या उससे पहले पैदा हुए बच्चों को ही लगेगी वैक्सीन 
डीआईओ डा. अरूण कुमार ने बताया कि साल 2007 या उससे पहले पैदा हुए बच्चों को ही फिलहाल कोरोना वैक्सीन लगाई जाएगी। यह टीका 15 वर्ष से कम उम्र के बच्चों को नहीं लगाया जाएगा।
-28 दिनों के बाद ही वैक्सीन की दूसरी खुराक लगेगी
भारत बायोटेक की कोवाक्सिन बच्चों को दी जाएगी और दो खुराकों के बीच केवल 28 दिनों का अंतराल रहेगा। हालांकि कोवाक्सिन की दूसरी डोज व्यस्कों को भी 28 दिनों के बाद ही दी जा रही है।

ये है रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया

5-18 साल के बच्चों के लिए वैक्सीन स्लॉट बुक करने के लिए पहले को-विन ऐप पर रजिस्टर करना होगा। अपने मोबाइल नंबर से लॉग इन करना होगा। वैक्सीन बुक करने के लिए बच्चे का फोटो प्रमाणपत्र भी देना होगा। इसके बाद स्लॉट बुक कर पाएंगे। अगर छोटे बच्चों के पास वोटर आईडी जैसे दस्तावेज नहीं हैं तो आधार कार्ड व स्कूल आईडी कार्ड का इस्तेमाल किया जाएगा।

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें पब्लिक न्यूज़ टी वी के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @PublicNewsTV और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @PublicNewsTV पर क्लिक करें।